टीकाकरण के बाद भी मास्क और सामाजिक दूरी क्यों?

why-masks-and-social-distance-even-after-vaccination-hindi

16 जनवरी 2021 को, भारत में SARS-coV-2 के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हुआ, जिसमें पहले चरण में स्वास्थ्य सेवा और अन्य अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों को टीकाकरण दिया गया।

अब तीसरा चरण शुरू हो गया है और लगभग 60 मिलियन खुराक का प्रबंध किया गया है, जिसमे ज्यादातर श्रमिकों और 45वर्ष से 60 वर्ष की आयु से ऊपर के लोगों को वैक्सीन दी जाएगी।भारत में कोविड -19 की दो वैक्सीन लगायी जा रही हैं जिसमे से कोवाक्सिन को भारत बायोटेक और कोविशिल्ड को सीरम संस्थान द्वारा बनाया गया है।

गंभीर बीमारी की रोकधाम किसे नहीं पसंद, लेकिन बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान के बावजूद,कोरोना के केस हर दिन खतरनाक दर से बढ़ रहें है। इसी बीच एक और नया और ज्यादा खतरनाक कोरोना का म्युटेंट पहले यूनाइटेड किंगडम (UK) में, फिर दक्षिण अफ्रीका में और अब भारत में पाया गया हैं।

यह भयानक वायरस के नए म्युटेंट कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई को जटिल बना सकता है और टीकों को कम प्रभावी बना सकता है। वायरस लगातार अपना रूप बदल रहा हैं और यह हम सभी के लिए चिंता का कारण हैं।

जिन लोगों को टीका लगाया जा चूका हैं और जो आने वाले दिनों में टीका लगवाने वाले हैं, वे अपने मास्क को फेंकने के बारे में सोच रहे हैं, कोरोना से संबंधित प्रोटोकॉल की अनदेखी कर रहे हैं, यह आने वाले दिनों में ज्यादा परेशानी ला सकती है। इस समय, हमारे पास यह सबूत नहीं है कि वैक्सीन के दो टीके वायरस को रोकने में कहाँ तक सक्षम हैं।

शोध इस बात पर स्पष्ट नहीं है कि वे वायरस को एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरों को फैलाने से कैसे रोक सकें। दूसरा, हम ठीक से यह नहीं जानते कि टीका लगने के बाद कोविड -19 के लिए कितने समय तक प्रतिरक्षा बनी रहती है। इसके अलावा, कोविड पॉजिटिव व्यक्ति में तनाव होना भी शामिल हो गया है, और यह तथ्य भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा कुछ दिनों पहले सामने आया था।

US और भारत के इम्यूनोलॉजिस्ट के अनुसार, नए पाए गए वायरस के स्ट्रेन आसानी से आपके शरीर की प्रतिरक्षक क्षमता को धोका दे कर आपको संक्रमित कर सकते हैं। टीकाकृत लोग भी वायरस को प्रसारित करने में सक्षम हो सकते हैं, भले ही वे कोई लक्षण प्रदर्शित न करें।

“हम जानते हैं कि टीका रक्षा कर सकते हैं, लेकिन हमें यह नहीं पता क्या यह कोरोना को फैलने से बचाता है?”

ऐसा इसलिए है क्योंकि SARS-CoV-2 वायरस अभी भी श्वसन पथ को नुकसान पंहुचा सकता है, यहां तक कि प्रणालीगत प्रतिरक्षा कोशिकाएं जो शरीर को उस बीमारी से बचाती हैं उनको भी भ्रमित कर सकता हैं।

भविष्य के लिए अपने मास्क को बचा के रखें ।अभी भी यह नहीं पता हैं की कौन सा मास्क पहनना और सोशल डिस्टेन्सिग जनहित के किये महत्वपूर्ण हैं। सबसे पहले, वैज्ञानिकों को पता नहीं है कि कोविड -19 टीके SARS-CoV-2 (जैसा कि ऊपर बताया गया है) के asymptomatic संचरण से रक्षा कर सकते हैं।

शोधकर्ताओं को यह भी नहीं पता है कि कोविड -19 टीके कब तक लोगों को वायरस से बचा सकते हैं। वैज्ञानिक यह भी बारीकी से देख रहे होंगे कि वायरस या वेरिएंट में बदलाव कोरोना के टीके के लिए कितना प्रभावशीलता हैं।

प्रसिद्ध इम्युनोलॉजिस्ट पॉल ड्यूप्रेक्स के अनुसार, पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय में वैक्सीन अनुसंधान के लिए केंद्र के निदेशक, जितने अधिक मेजबान / मनुष्य इस वायरस से संक्रमित होते हैं, उतने अधिक संभावना है कि ज्यादा लोगो तक फ़ैल सकता हैं। कोरोना इसीलिए भी बढ़ रहा है क्यूंकि सबकी लगता हैं जिन्होंने वैक्सीन का टीका लगवा लिया हैं उन्हें अब कोरोना नहीं हो सकता।

सरकार और मेडिकल एक्सपर्ट्स द्वारा सुझाए गए उपायों के साथ निरंतर अनुपालन आवश्यक है, खासकर जब कई कोविड -19 जैसे लक्षणों का अनुभव कर रहा हो और ज्यादातर लोगों ने इस विचार का इस्तेमाल किया है कि अन्य बीमारियों की तरह एक गोली या इंजेक्शन के साथ रोका जा सकता है।

वायरस के संचरण को नियंत्रित करने के लिए सबसे अच्छा हम मास्क पहने रहें ,और अगले कुछ वर्षों तक इन चीजों का अभ्यस्त बनने की कोशिश करे, जब तक कि मानव प्रतिरक्षा प्रणाली के प्रति वायरल कम नहीं हो जाता है। दुनिया भर के इम्यूनोलॉजिस्ट मानते हैं कि वायरस के साथ जीना सीखने की जरूरत है और महामारी समाप्त हो सकती है लेकिन कोविड -19 अन्य फ्लू वायरस की तरह मौसमी वायरस के रूप में फिर से उभर सकता है।

इसलिए मैं प्रत्येक नागरिक को सुझाव देना चाहूंगा कि क्या आपको टीकाकरण हुआ है या नहीं, आपको कोविड -19 के SOP को पालन करना चाहिए, जैसे कि मास्क पहनना, विशेष रूप से बाहर जाते समय, और सामाजिक दूरी बनाए रखना, हाथों को साफ करना, भीड़-भाड़ से बचना ताकि नए केस और नए वेरिएंट के प्रसारण को रोका जा सके।

Share:

Share on facebook
Share on whatsapp
Share on twitter
Share on pinterest
Suniti Verma

Suniti Verma

Table of Contents

Related Articles

easy-home-workout-hindi

वजन कम करना चाहते हैं? आपके लिए 10 आसान वर्कआउट

ज्यादातर लोगो को लॉकडाउन के कारण घर में रहना पड़ रहा हैं और इसी वजह से उनकी शारीरिक गतिविधियाँ भी काम हो गयी है जिससे उन लोगो को अभी और बाद में शारीरिक दिक्कतें हो

Read More »
stepbystep home remedies asthma hindi

Step by Step इमरजेंसी होम रेमेडी फॉर अस्थमा अटैक

अस्थमा एक पुरानी सांस की बीमारी है जिसने दुनिया भर में लाखों लोगों को प्रभावित किया है। यह हवा में सबसे कम मात्रा में थोड़ा सा भी रोया द्वारा ट्रिगर हो जाता है। अस्थमा का

Read More »
why-masks-and-social-distance-even-after-vaccination-hindi

टीकाकरण के बाद भी मास्क और सामाजिक दूरी क्यों?

16 जनवरी 2021 को, भारत में SARS-coV-2 के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हुआ, जिसमें पहले चरण में स्वास्थ्य सेवा और अन्य अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों को टीकाकरण दिया गया। अब तीसरा

Read More »